मुंहासों के लिए योगासन Muhase Ke Liye Yogasan

Yoga For Pimples In Hindi.

Muhase Ke Liye Yogasan Ek Gharelu Upchar (Nuskha – Upay) Hai. Jante Hai  Kaun Se Yogasan Muhason Ke Liye Upyogi Hai.

वज्रासन Vajrasana Steps And Benefits 

1. ताड़ासन में खड़े हो जाएं | पैरों की उंगलियां बाहर की तरफ़ रखते हुए घुटनों के बल खड़े होकर, कंधों और हाथों को रिलैक्स्ड रखें |

2. एड़ियों के बल बैठ जाएं और हाथों को घुटनों पर रखें | एड़ियों को नितंबों के दोनों ओर बाहर की तरफ़ भी रख सकते हैं, ताकि नितंब के बल सीधे ज़मीन पर बैठा जा सके | इससे एड़ियों व घुटनों को ज़्यादा स्ट्रेच मिलेगा |

3. कमर एकदम सीधी रखें | सामने देखें और गहरी सांसें लें |

सावधानी: यदि शुरुआत में वज्रासन में बैठने में दिक्कत आ रही हो, तो ज़्यादा देर न बैठे और एड़ियों पर बैठने का अभ्यास जारी रखें |

फ़ायदेः जांघों, नितंबों और एड़ियों को टोन करता है | भोजन के बाद किया जाए, तो पाचन क्रिया को तेज़ करता है | मानसिक शांति भी बढ़ाता है |

उपविष्ठ कोणासन Upavistha Konasana Steps And Benefits

1. दंडासन में बैठ जाएं |

2. पैरों को फैलाकर स्ट्रेच करें | पैरों के अंगूठों को सीधा रखें | हथेलियों को पीछे की तरफ़ ज़मीन पर रखकर प्रेस करें, ताकि रीढ़ एकदम सीधी रहे |

3. सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकते हुए दोनों हाथों से पैरों के अंगूठों को छूएं | कुछ सेकंड तक सांस रोकें, फिर सामान्य रूप से सांस लें |

4. फिर सांस छोड़े और आगे की तरफ़ झुककर हथेलियों से जमीन को छूते हुए रीढ़ को स्ट्रेच करें | 20-30 सेकंड रुकें और सांस लेते हुए फिर से दंडासन की मुद्रा में आ जाएं |

सावधानीः आगे झुकते हुए गर्दन को बहुत ज़्यादा स्ट्रेच न करें | यदि झुकने में तकलीफ़ हो तो हाथों को थोड़ा फैलाकर स्ट्रेच करें |

फ़ायदेः पैरों को टोन करता है और पेट व पेडू को स्वस्थ रखता है |

पिंपल फ्री कपोल शक्ति विकासक आसन Benefits of Kapol Shakti Vikasak

1. दोनों हाथों की उंगलियों को आपस में मिलाएं |

2. दोनों अंगूठों से नासिका यानी नाक के दोनों द्वार को बंद करें | इस दौरान दोनों कोहनियां कंधों की सीध में रखें |

3. होठों को चोंच की तरह गोल बनाते हुए सांस लें |

4. फिर गाल फुलाते हुए हवा अंदर ही रोककर ठुड्डी को छाती से लगाएं |

5. इस दौरान दोनों छोटी उंगलियां छाती से स्पर्श करती रहेंगी |

6. इसी अवस्था में आंखें बंदकर 5 से 6 सेकंड सांस रोककर रखें |

7. इस क्रिया को 5 बार दोहराएं |

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*