कुदरती रूप से सुंदर दिखने के लिए

fuit for glowing skin

यों तो मार्केट में मिलने वाले विविध प्रकार के सौंदर्य प्रसाधनों से सौंदर्य निखारा जा सकता है, लेकिन यह सौंदर्य निखार क्षणिक होता है | विशेषज्ञों का मानना है कि कुछ विशेष खाद्यपदार्थ को अपनी आहार सूची में शामिल कर के आप प्राकृतिक सौंदर्य, चमकीली त्वचा, आकर्षक रेशमी केश व स्वस्थ नाखून पा सकती हैं |

ऐसे खाद्यपदार्थ ब्यूटी फ़ूड कहे जाते हैं | इन का निरंतर सेवन किया जाए तो ये रक्तसंचार में सुधार करते हैं, त्वचा के टिशूज की मरम्मत कर के उन्हें लचक व सौंदर्य प्रदान करते हैं, जिस से वे आप को अधिक समय तक जवां व स्वस्थ रखते हैं |

स्ट्राबैरी व पालक : कॉस्मेटिक सर्जन के अनुसार ऐंटीआक्सीडेंट तत्वों से भरपूर स्ट्राबैरी व पालक त्वचा के पोषण में विशेष योगदान देते हैं | साथ ही ऐंटी ऐजिंग का काम भी करते हैं | झुर्रियों को दूर करते हैं, त्वचा को स्पंजी बनाते हैं | इसलिए इन दोनों को अपने आहार में किसी न किसी रूप में अवश्य शामिल करें | इतना ही नहीं, 2-3 स्ट्राबैरी की ब्लैंडर में प्यूरी बनाएं | इस में ठंडा दही मिला कर चंद बूंदें नीबूं के रस की डालें | तैयार मिश्रण को अपने चेहरे पर 20 मिनट लगा कर रखें फिर धों दें | चेहरा चमक उठेगा |

लो फैट दही : कैल्शियम व फास्फोरस से भरपूर होने की वजह से दही दांतों के इनैमल को मजबूती देता है, कैविटी होने से रोकता है | नियमित दही का प्रयोग त्वचा को चमकीला व लचीला बनाता है और ऑस्टियोपोरोसिस की रोकथाम में सहायक रहता है |

दही को मास्क की तरह भी प्रयोग किया जा सकता है | साफ चेहरे पर दही फेंट कर लगाएं | 10 मिनट लगा रहने दें | फिर धो दें |

½ कप फुल फैट दही में 3 बड़े चम्मच शहद व 1 अंडे का पीला भाग डाल कर मिश्रण बनाएं | इसे केशों पर 15 मिनट लगा रहनें दें | फिर धो लें | यह प्रोटीन रिच हेयर मास्क का काम करता है |

ऐप्पल साइडर

विनेगर : इस में बहुत से ऐसे गुण होते हैं जों न केवल स्किन टिशूज की हीलिंग करते हैं, बल्कि त्वचा को कोमलता व चमक भी प्रदान करते हैं | इस में मौजूद ऐंजाइम्स मृत त्वचा की परत को हटा कर उसे नया रूप देते हैं, फैट को कम करते हैं तथा पाचनतंत्र को भी स्वस्थ रखते हैं |

गाजर व चुकंदर : ये महत्वपूर्ण विटामिंस व खनिज पदार्थों से भरपूर होने के कारण एंटी ऐजिंग को रोकते हैं और त्वचा की बाहरी सतह को ठीक रखने में सहायक रहते हैं | 2 सप्ताह गाजर-चुकंदर का रस नियमित पीने से अदभुत सौंदर्य निखरता है |

लहसुन : यह झुर्रियों की रोकथाम कर के त्वचा के टिशूज को नया जीवन देता है, टाक्सिन से बचाता है | 1-2 कली लहसुन सुबह खाली पेट खाना लाभदायक है | यदि त्वचा पर मुंहासे हों तो लहसुन की कली को उन पर रगड़ने से वे दूर हो जाते हैं |

शकरकंद : इसे एक एंटीएजिंग फूड मन जाता है, क्यूंकि यह विटामिन ए से भरपूर है | इस के नियमित सेवन से त्वचा चिकनी व चमकदार बनी रहती है |

व्हीट जर्म (अंकुरित अनाज) : 2-3 बड़े चम्मच व्हीट जर्म अपनी डाइट में शामिल करने से त्वचा संबंधी कुछ समस्याओं, जैसे पिंपल्स व एक्ने आदि से बचाव होता है और त्वचा सुंदर बनती है | दही, पनीर आदि में मिलाकर इस का प्रयोग कुश दिन लगातार करने से फर्क महसूस होता है |

टमाटर : इस में विटामिन सी व ए दोनों होते हैं | साथ ही पर्याप्त मात्रा में पोटैशियम भी | इस का लाइकोपीन नामक तत्व एंटीऑक्सीडेंट का काम करता है | टमाटर का प्रयोग त्वचा को सनबर्न से भी बचाता है |

अखरोट व अलसी : ये दोनों ही ओमेगा-3 फैटी ऐसिड के मुख्य स्त्रोत हैं, इसलिए त्वचा, केशों व हड्डियों को पोषण देते हैं | साथ ही त्वचा की समस्याओं से भी बचाव करते हैं |

डार्क चाकलेट : यह पौष्टिकता व एंटीअक्सीडेंट तत्वों से भरपूर होता है | चाकलेट का सेवन धूप से त्वचा को होने वाली हानि से भी बचाता है और रक्तसंचार को बढ़ाता है , जिससे त्वचा का सौंदर्य निखरता है |

ग्रीन टी : यह पौलीफैनोल एंटीअक्सीडेंट नामक तत्वों से भरपूर होता है, जो त्वचा को ऐजिंग से बचाते हैं | ग्रीन टी का प्रयोग दिल की बीमारी व कैंसर जैसे रोगों से भी बचाव करता है | इस में मौजूद फ्लैवोनाइड तत्व भी त्वचा के लिए लाभकारी हैं | वह सिस्टम को क्लीन करता है, साथ ही वजन नियंत्रण में कारगर है |

इस के अतिरिक्त किशमिश, लाल व पीली शिमलामिर्च, ब्रोकली, पपीता व बादाम का प्रयोग भी सौंदर्य को निखारने में भरपूर सहयोग देता है |

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*