सुन्दरता बढ़ाने के लिए फलों का प्रयोग

fuit for glowing skin

स्वास्थ्य की ही नहीं सौंदर्य की रक्षा करना भी जरूरी है। सुंदर दिखना कौन नहीं चाहता? विशेषकर स्त्री वर्ग में अपने आपको सुंदर और आकर्षक बनाए रखने की बेहद लालसा होती है। फलों में सौंदर्यवर्धन के सैकड़ों गुण विद्यमान हैं। यहां फलों के कुछ परीक्षित और असरकारक ऐसे नुस्खे प्रस्तुत कर रहे हैं जो शरीर को सुडौल और चेहरे को सुंदर व कांतिवार्न बनाने में सफल सिद्ध हुए हैं।

उपचार

नीबू

सौंदर्य प्रसाधन सामग्री के रूप में नीबू का कई तरीकों से प्रयोग किया जाता है। शरीर के अनेक भागों में तथा त्वचा पर चकते पड़ जाने पर नीबू का रस रगड़ने से उनका रंग हल्का हो जाता है तथा त्वचा निखर जाती है |

घर की सफाई, रसोई का काम, कपड़े धोने के पश्चात महिलाओं के हाथों में खुश्की आ जाती है व त्वचा रूखी व कठोर हो जाती है। ऐसे में हथेली पर ग्लिसरीन की 5-6 बूंदों में थोड़ा-सा नीबूका रस मिलाकर हथेलियों व हाथों पर मलने से त्वचा कोमल व चमकदार हो जाती है।

एक चम्मच दूध की ताजा मलाई में कुछ बूंदें नीबू के रस की डालकर भली प्रकार पेस्ट बनाकर चेहरे पर नियमित रूप से लगाया जाए तो चेहरा दमक उठता है।

साबुन से चेहरा धोकर त्वचा पर नीबू रगड़ने से उसमें निखार आता है तथा व्यक्ति गोरा होने लगता है।

पपीता

पपीते के गुदे को भली प्रकार पीसकर चेहरे पर लगाने से चेहरे के दाग-धब्बे दूर हो जाते हैं तथा चेहरा खिल उठता है।

आंवला

सुबह व शाम चेहरे पर जैतून का तेल, बादाम रोगन अथवा शुद्ध घी की मालिश करने के पश्चात आंवले के चूर्णको पानी में उबालकर ठंडा करके छान लें। इससे थोड़ी देर पश्चात मुंह धोएं। इस उपचार से चेहरे की झुर्रियां नष्ट हो जाती है, सौंदर्य बढ़ता है तथा त्वचा के दाग-धब्बे मिट जाते हैं |

खुबानी : खुबानी के पत्तों का रस त्वचा पर लगाने से विशेष लाभ होता है। चेहरे की सुंदरता बढ़ाने के लिए खुबानी के गूदे को मास्क के रूप में प्रयोग किया जाता है।

आम

लगातार आम का सेवन करने से त्वचा का रंग साफ होता है तथा चेहरा दमक उठता है।

अनार

अनार के छिलकों को बारीक चूर्ण की तरह पीसकर गुलाबजल में मिलाकर उबटन की भांति चेहरे पर लगाने से चेहरे के दाग-धब्बे व झाइयां समाप्त हो जाती हैं तथा त्वचा निखर उठती है।

मूंगफली

मूंगफली के तेल में दो चम्मच दूध और थोड़ा नीबू का रस मिलाकर रात्रि को सोने से पहले चेहरे पर मलें। इससे त्वचा निखर जाएगी तथा चेहरे की खुश्की व उसका निस्तेज दिखाई देना समाप्त हो जाएगा।

सर्दियों के दिनों में जब त्वचा खुश्क दिखाई दे तो मूंगफली के तेल में गुलाबजल और दूध मिलाकर शरीर पर मालिश करनी चाहिए। यदि हाथ-पांव, मुंह तथा गर्दन आदि पर कुछ मैल जमने की झलक दिखाई दे तो इसमें से एक चम्मच तेल अलग लेकर उसमें नीबू के रस की कुछ बूंदें मिलाकर गर्दन व हाथ-पैरों पर मलना चाहिए। इस मालिश के आधे घंटे बाद गरम पानी में नीबू मिलाकर स्नान करने से शरीर का मैल समाप्त हो जाता है तथा विशेष प्रकार की ताजगी आ जाती है।

जैतून

जैतून के तेल से मालिश करने से त्वचा में निखार आता है।

एरंड

एरंड के तेल में चने का आटा मिलाकर चेहरे पर रगड़ने से झाइयां समाप्त हो जाती हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*