गर्भावस्था मे रखे बालों का खास ख्याल 29 Simple Tips For Hair Care During Pregnancy

29 Simple Hair Care Tips During Pregnancy In Hindi

गर्भावस्था मे रखे बालों का खास ख्याल 29 Simple Tips For Hair Care During Pregnancy In Hindi

किसी भी स्त्री के जीवन में मां बनने का एहसास सबसे सुखद एहसास होता है, लेकिन जब कोई स्त्री गर्भ धारण करती है उस वक्त से लेकर प्रसव के समय तक मन में कई प्रकार के भाव आते रहते है, जो उन्हे कभी मुस्कराहट दे जाती है तो कभी भयभीत कर जाती है. वास्तविकता यह है कि इन दिनों एक स्त्री को अपना बेहद ख्याल रखना होता है, क्योंकि इस अवस्था में शरीर में हार्मोनल और कई शारीरिक परिवर्तन होते है. ऐसे में खान पान का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है. इस अवस्था में स्वास्थ्य के साथ साथ सौंदर्य पर भी सीधा प्रभाव पड़ता है, लेकिन प्रत्येक स्त्री पर समान रूप से नहीं. कुछ महिलाएं जहां इस दौरान थकी थकी मुरझाई सी लगती है, चेहरे पर झाइयां उभर आती है व शारीरिक गठन असंतुलित हो जाता है, बाल झड़ने लगते है, आंखों के नीचे काले घेरे पड़ जाते है और त्वचा तेजहीन हो जाती है, वहीं कुछ स्त्रियों के सौंदर्य में मानो निखार आ जाता है और वे पहले से अधिक आकर्षक दिखने लगती है. यह सब एक ओर जहां शारीरिक प्रकृति और मनोवैज्ञानिक स्थितियों पर निर्भर करता है, वहीं रहन-सहन, खान पान व अन्य आदतों का भी सीधा प्रभाव पड़ता है.

बाल टूटने की समस्या Baal Tootne Ki Samsya Aur Samadhan

  • गर्भावस्था के दौरान बालों का टूटना और झड़ना काफी असामान्य क्रिया है. इन दिनों शारीरिक क्रियाएं तेज होती है और इसका प्रभाव बालों पर भी होता है, जिससे बालों का तेजी से विकास होता है.
  • कई महिलाओं में ऐसा भी देखा गया है कि इन दिनों उनके बालों में काफी चमक आ जाती है और बाल घने हो जाते है, जिससे उन्हें काफी खुशी होती है, लेकिन कई महिलाओं की शिकायत होती है कि इस अवस्था में उनके बाल टूटते और झड़ते है.
  • इस दौरान जो महिलाएं ऐसी शिकायत करती है उनके बाल आमतौर पर ओवल और राउंड शेप में गिरते है. अगर ऐसी शिकायत हो तो तुरंत ही अपने चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए, क्योंकि ऐसा होना यह भी दर्शाता है कि शरीर को आवश्यक खनिज और विटामिन नहीं मिल पा रहा है.
  • ऐसी अवस्था में तुरंत डॉक्टर की सलाह लेकर उसका पालन करें, नहीं तो वह आपके और आपके बच्चे की सेहत पर विपरीत प्रभाव डाल सकता है.
  • इन दिनों यह भी देखा गया है कि जिनके बाल ऑयली होते है वे और ज्यादा ऑयली हो जाते है और जिनके बाल रूखे है वे और ज्यादा रूखे हो जाते है.
  • वैसे ही कर्ली बाल स्ट्रेट और स्ट्रेट कर्ली हो जाते है. इतना ही नहीं इन दिनों बालों के रंगों पर प्रभाव पड़ता है. इसलिए बहुत जरूरी है कि आहार को संतुलित रखें और बालों की साफ सफाई एवं देखभाल पर ध्यान दें, ताकि यह समस्या काफी हद तक नियंत्रित हो सके. डॉ बत्रा कहते है, ‘बालों के गिरने की शुरुआत का संबंध ऐसे किसी भी परिवर्तन से हो सकता है जिससे आपके शरीर में एस्ट्रोजेन हारमोन संतुलित व परिवर्तित होता है. किसी एक या ज्यादा कारण से बाल गिर सकते है जैसे – गर्भ निरोधक गोलियों का सेवन यह हार्मोनल शैली की गर्भ निरोधक विधि के बंद करने से. मिसकैरेज या स्टिल बर्थ, हार्मोनल असंतुलन आदि. 

इसे भी पढ़ें -> बालों को दे परमानेंट सेटिंग How To Do Permanent Hair Setting – Tips In Hindi

बालों के लिए उपयोगी व्यायाम 5 Simple And Useful Exercise For Hair

आधुनिक समय में बाल गिरने के मुख्य कारणों में एक है तनाव. निम्नलिखित व्यायाम को रोज कम से कम एक बार कुछ मिनट के लिए अवश्य कीजिए. आपका तनाव नियंत्रण में रहेगा.

  1. व्यायाम से सिर के ऊपरी हिस्से में रक्त प्रवाह बढ़ता है और हेयर फॉलिक्लिस प्रेरित होते है. इससे बाल मजबूत होते है.
  2. जमीन पर पालथी लगाकर बैठ जाएं. अपने हाथों को पीछे रखे और सामने झुककर ललाट को बाएं घुटने में सटाएं. 10 तक गिनें. धीरे धीरे पुरानी स्थिति में आएं.
  3. इसी प्रक्रिया को दोहराएं. इस बार ललाट को बाएं घुटने से सटाएं.
  4. इसी प्रक्रिया को फिर करे और ललाट को जमीन से सटाने का प्रयास करें.
  5. दोनों ओर यह व्यायाम पाँच बार कीजिए.

हाइपरटेंसन या स्पौंडलाइटिस है तो इस व्यायाम से बचिए.

  1. रोज एक या दो बार अपने दोन हाथों की उंगलियों को बगैर मोड़े दृढ़ता से अपने सिर पर रखिए. (इससे उंगली मजबूत और दृढ़ होती है). बालों को दबाइए मत पर उंगली को मजबूती से एक जगह रखे रहिए और कुछ सेकेंड तक गोल घुमाइए. अब फिर अपनी उंगलियों को नई जगह पर रखिए और उंगलियों को कुछ सेकेंड तक गोल घुमाइए. ऐसा तब तक कीजिए जब तक पूरा सिर न कवर हो जाए. कमजोर जगहों पर थोड़ा ज्यादा समय लगाइए.
  2. जमीन पर पालथी लगाकर बैठ जाइए. सुनिश्चित कीजिए कि आपकी कमर एकदम सीधी है. अपनी आंखों को बंद कर आराम कीजिए. धीरे धीरे हल्के पर गहरी सांस लीजिए. 10 सेकेंड तक अपनी सांस रोकिए, अब धीरे धीरे पूरी तरह सांस छोड़ दीजिए. फिर से सांस लीजिए. इस प्रक्रिया को 15 बार कीजिए.
  3. जमीन पर पालथी लगाकर बैठ जाइए. कमर सीधी रखिए और आंखें बंद कर लीजिए. अंगूठे से दाहिनी नाक बंद कर लीजिए. बाईं नाक से गहरी सांस लीजिए और 10 सेकेंड तक सांस रोक कर रखिए. अब तर्जनी से बाईं नाक को बंद कीजिए. धीरे धीरे दाईं नाक से सांस छोड़िए. दूसरी नाक से दोहराइए. यह व्यायाम 10 बार कीजिए.
  4. जमीन पर बैठ जाइए और कमर सीधी रखिए. अपनी आंखें बंद कर लीजिए. अपनी गर्दन को धीरे धीरे घड़ी की सुई की दिशा में घुमाइए. 5 बार दोहराइए. अब अपनी गर्दन को उल्टी दिशा में घुमाइए. पाँच बार कीजिए.

इसे भी पढ़ें -> पाएं तैलीय बालों से छुटकारा Tips For Sticky Hair In Hindi

क्या करें Garbhavastha Me Baal Girne Se Rokne Ke Liye Kya Kare

अपने बालों को स्वस्थ रखने और गर्भावस्था के दौरान तथा डिलीवरी के बाद बाल गिरना कम करने के लिए आप कई उपाय कर सकती है-

  1. डॉक्टर से संपर्क कीजिए ताकि हारमोन का उपयुक्त संतुलन सुनिश्चित किया जा सकें.
  2. पिगटेल्स कॉर्न रोज, हेयर वीब्ज, ब्रैड्स और टाइट हेयर रॉलर से बचिए. इनसे आपके बाल खिचे और तने हुए रहते है.
  3. ऐसे शैंपू और कंडीशनर का उपयोग कीजिए जिसमे बायोटिन और सिलिका हो.
  4. गीले बाल कमजोर होते है इसका ख्याल रखिए, गीले बालों में बारीक कंघे का उपयोग न करें.
  5. अगर आपको ब्लो ड्रायर और अन्य गरम उपकरणों का उपयोग करने की आवश्यकता हो तो कोशिश कीजिए कि कूल सेटिंग का उपयोग करें.
  6. अगर आपके बाल ड्राई है तो आप माइल्ड शैंपू का प्रयोग करें, जिसमे डिटर्जेंट की मात्रा कम हो, इससे आपके बालों का नेचुरल ऑयल बना रहेगा.
  7. बाल धोने के बाद मॉयश्चराइजिंग कंडीशनर का प्रयोग जरूर करें.
  8. इन दिनों बेहतर होगा कि आप बालों को सुखाने के लिए सूखे तौलिये का प्रयोग करें. ब्लो ड्रायर का प्रयोग जहां तक संभव हो नही करना चाहिए.
  9. बालों को कलर करने की चाहत हो तो इन दिनों नेचुरल (हिना) का प्रयोग कर सकती है.
  10. इस अवस्था मे लेजर या ओज़ोन की सिटिंग्स नहीं लेनी चाहिए, इससे आपके और आपके बच्चे की सेहत पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है.
  11. नशीले पदार्थ जैसे – शराब और सिगरेट का सेवन भी आपके बालों पर बुरा असर डालता है. बालों की जड़े कमजोर होती है और बाल टूटने लगते है.
  12. टेंशन भी बालों के टूटने का एक बड़ा कारण है, इसलिए इन दिनों जहां तक हो सके खुश रहने की आदत डालनी चाहिए.
  13. एक और बात जो बेहद ध्यान देने की है वह यह कि बालों का टूटना कम करने के लिए प्लेसेन्टा एम्पयूल बालों में लगाएं.
  14. बाल धोने के लिए हमेशा ठंडे पानी की बजाय कुनकुना पानी उपयोग कीजिए.
  15. ब्लो ड्राइंग और तौलिए से जोरदार रगड़ कर सुखाने से बचिए. बालों को अपने आप सूखने दीजिए. अगर आपको हेयर ड्रायर का उपयोग करना ही पड़ रहा है तो इसे लो या मीडियम हीट पर रखिए और बालों से 6 इंच से ज्यादा दूर रखिए.
  16. ब्रश की बजाए चौड़े दांत वाले कंघे का उपयोग कीजिए. कभी भी गीले बालों को कंघी मत कीजिए, क्योंकि इस समय ये लचीले होते है और आसानी से टूट सकते है. कंघी करने से पहले उंगलियों से बालों के उलझन छुड़ा लीजिए. अपना कंघा अलग रखिए.
  17. बालों पर दबाव डालने वाले किसी भी हेयर स्टाइल जैसे- पौनी टेल, कर्लिंग रॉलर आदि से बचिए. कोशिश कीजिए कि हर तीन महीने पर मांग निकालना बदल दे, ताकि बालों पर कोई दबाव न पड़े.
  18. जब कभी आप तनाव या मुश्किल में महसूस करे, कुछ ऐसा करिए जिससे आपको आराम लगे, जैसे- कोई पुस्तक पढ़ना, संगीत सुनना या फिल्म देखना.

बालों के लिए खान पान Diet To Keep Hair Healthy

  1. इन दिनों खान पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए. शरीर को पोषक तत्वों की काफी जरूरत होती है, जिसकी कमी से बहुत सी परेशानियों का सामना गर्भवती को करना पड़ता है. विशेष कर बालों के लिए यह एक गंभीर समस्या हो सकती है. बाल का मुख्य तत्व केरेटिन नामक प्रोटीन है. बालों की जड़े मजबूत रहें इसके लिए प्रोटीन युक्त आहार लें. अंकुरित दाले, सोया, दूध, दूध से बने पदार्थ, अंडा, मांस, मछ्ली का सेवन करने से इस दौरान बालों की समस्याएं बहुत कम होती है.
  2. गर्भावस्था के दौरान शरीर में सामान्यतः कैल्शियम, आयरन व विटामिनों की कमी हो जाती है. इनकी कमी को दूर करने के लिए संतुलित खुराक और यदि आवश्यक हो तो दवा आदि का सेवन करना चाहिए. इस दौरान नियमित दिनचर्या, व्यायाम, शारीरिक मालिश व पर्याप्त विश्राम का विशेष महत्व है. इस समय आपका सौंदर्य पुष्प मुरझाने न पाए, इसके लिए भी कुछ सावधानियां बरतनी आवश्यक है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*