खिली और चमकदार त्वचा का राज़

fuit for glowing skin

त्वचा की देखभाल के लिए सिर्फ कॉस्मेटिक्स ही काफी नहीं है, बल्कि इसके साथ सही डाइट और आपके मूड का सही होना भी जरूरी है, क्योंकि चेहरे की भाव-भंगिमा का त्वचा पर ज्यादा असर पड़ता है। अध्ययन बताते हैं कि जब हमारे इमोशंस हमारे शरीर पर कुछ निगेटिव और पॉजिटिव असर डालते हैं, तो इसका असर हमारी त्वचा पर भी पड़ता है। जहां नकारात्मक भावनाएं हमारी स्किन पर बुरा प्रभाव डालती हैं, वहीं खुशमिजाज लोग नेचुरली ही खूबसूरत होते हैं।

दरअसल, तनाव के कारण शरीर के अंदर कोर्टिसोल हार्मोन का उत्पादन होता है, जिससे चेहरे की त्वचा की कोशिकाओं का रक्त-प्रवाह प्रभावित होता है। कोर्टिसोल के कारण चेहरे की रक्त वाहिकाएं कमजोर हो जाती हैं तथा कम उम्र में ही व्यक्ति बूढ़ा नजर आने लगता है। अध्ययन भी बताते हैं कि तनाव के कारण मुंहासे, सोराइसिस और एक्जिमा जैसी स्किन समस्याएं पैदा हो जाती हैं। ऐसे में अगर लंबे समय तक जवां दिखना चाहती हैं, तो मुस्कुराने और खुश रहने का फॉर्मूला कभी भी अपनी जिंदगी से न निकालें।

मूड का रखें ध्यान

क्रोध हमारे चेहरे कि मांसपेशियों को प्रभावित करता है | गुस्से के कारण हमारे चेहरे पर ना सिर्फ झुर्रियां आतीं हैं, बल्कि डार्क स्पॉट्स भी हो सकते हैं | गुस्से के सामान ही उदासी भी चेहरे पर दबाव डालती है और बार बार नाक भी सिकोड़ने से झुर्रियों का कारण बनती है |

डिप्रेशन और चिंता के दौरान शरीर में प्रवाहित होने वाले रक्त में कोर्टिसोल का स्तर काफी बढ़ जाता है। जिसके कारण समय से पहले ही बालों का झड़ना, स्किन पिग्मेंटेशन आदि समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। लंबे समय तक अवसाद त्वचा के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है।

इसी तरह तनाव के दौरान स्राव होने वाले हार्मोन कॉर्टिसोल रक्त वाहिनियों को कमजोर बनाता है। इससे त्वचा की नई कोशिकाएं जल्द नहीं बन पातीं, जिससे त्वचा पर समयपूर्व ही झुर्रियां नजर आने लगती हैं। कई लोग तनाव की स्थिति में ऐसी चीजें ज्यादा खाने लगते हैं, जिससे त्वचा को नुकसान होता है जैसे- चॉकलेट, आलू के चिप्स और कॉकटेल आदि।

स्ट्रेस की स्थिति में लोग त्वचा की देखभाल भी सही ढंग से नहीं कर पाते। ऐसे में अनियमित भोजन और त्वचा पर ध्यान न देने के कारण एकने की समस्या होती हैं।

वहीं डर के कारण हमारे शरीर में एड्रेनालाइननामक हार्मोन का उत्पादन होता है। जिसका असर हमारी पसीने की ग्रंथियों पर पड़ता है। इसके अतिरिक्त हमारे चेहरे पर झुर्रियां भी पड़ने लगती हैं।

अब सवाल यह है कि इन स्थितियों से कैसे बचे? तो जवाब है कि त्वचा की सही केयर। अगर आप अपनी त्वचा को सुंदर बनाए रखना चाहती हैं, तो सबसे पहले पल-पल बदलते मूड को समझें। गुस्से की स्थिति में जितना हो सके शांत रहें तथा ऐसे लोगों के बीच रहें, जो हंसमुख हों। इसके साथ ही अच्छी नींद लें और तनाव को अपने जीवन से दूर रखने की कोशिश करें। रोज सुबह ताजा हवा का आनंद लें। इससे आप अच्छा महसूस करेंगी और अच्छा महसूस करेंगी तो मूड भी ठीक रहेगा। जिसकी चमक आपके चेहरे पर होगी।

यदि आपका रोने का मन हो रहा है, तो अपने मन को रोके मत। खुलकर रोइए। इससे आपके मन के नकारात्मक विचार दूर हो जाएंगे। वैज्ञानिक अध्ययन भी बताते हैं कि रोना हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*